Sunday, 24 June 2018

क्या 'शाहजहां' एक और काला ताजमहल वनबाना चाहते थे आखिर क्या है काले ताजमहल का सच आप भी जाने

ताजमहल के उपर बहुत सी कहानी आपने सुने होंगी और इस तरह की एक कहानी ये भी है कि शाहजहां एक दूसरा ताजमहल भी बनाना चाहते थे. जो की एक काला ताजमहल होता. उत्तर प्रदेश सरकार की ताजमहल पर बनी वेबसाइट पर दी गई एक कहानी के मुताबिक शाहजहां काले संगमरमर से एक और ताजमहल बनाने की इच्छा रखते थे. बता दे की यह काला ताज मौजूदा मकबरे के सामने यमुना नदी की दूसरी तरफ माहताब बाग में बनाने की योजना थी. और शाहजहां इसमें अपना मकबरा बनाने चाहते थे. लेकिन, लेकिन शाहजहां का ये सपना पूरा नहीं हो सका क्योंकि अपने बेटे औरंगज़ेब के साथ उनका टकराव शुरू हो गया था. औरंगज़ेब ने शाहजहां को घर में नज़रबंद कर लिया था।taajmahal
वेबसाइट के मुताबिक इस कहानी का ज़िक्र यूरोपीय लेखकर जेन-बैप्टाइज टेवरनियर ने किया था जो की 1665 में आगरा गए थे. यह कहा जाता है कि अपनी बीमारी और नज़रबंदी के दिनों में शाहजहां उनके कमरे की दीवार पर एक खास एंगल में लगे हीरे के ज़रिए लेटे हुए ही ताजमहल का दीदार किया करते थे. हालांकि, कई इतिहासकार इस कहानी को काल्पनिक कहते हैं. जेएनयू में मध्यकालीन इतिहास के प्रोफेसर नजफ हैदर बताते हैं, ''काले ताजमहल की कहानी में बिल्कुल भी कोई सच्चाई नहीं है. ये एक मनगढ़ंत कहानी है. जो कुछ लोगो की बनाई हुई है।black tajmahal photo
उन्होंने यह भी कहा ''विदेश से आने वाले पर्यटकों के बीच ताजमहल को लेकर बहुत सी कहानियां हैं. दरअसल, उन्हें ताजमहल आकर्षक लगता था लेकिन उन्हें इसके बारे में ज़्यादा जानकारी नहीं मिल पाती थी. और इस कारण भी कई मिथक हैं. अंग्रेजी में होने के कारण उनकी किताबें आसानी से उपलब्ध हैं और इसलिए इनमें लिखी बातें ज्यादा प्रचलित हो जाती हैं आप ताजमहल के बारे मे क्या जानते हो हमे कमेंट करके जरूर बताना शुक्रिया।

0 comments: