Friday, 24 November 2017

हिन्दू औरंगजेब से इतनी नफरत क्यों करते हैं, जानिये इसका इतिहास

अबुल मुज़फ्फर मुहिउद्दीन मुहम्मद औरंगज़ेब, यह पूरा नाम है उस मुगल शासक का जिसको आप औरंगजेब नाम से जानते हैं. अप यह तो जानते ही होहे की औरंगजेब, शाहजहां और मुमताज का पुत्र था. और उसने जल्दबाजी में आगरा पर कब्जा भी कर लिया था और अपना राज्याभिषेक भी कराया फिर 31 जुलाई, 1658 को औरंगजेब बहादुर आलमगीर’ की उपाधि खुद को दी और और खुद दिल्ली आ गया था.

Google search
और हाँ इतना ही नहीं औरंगजेब ने अपने शासन मे भारत में कई धार्मिक स्थलों को तबाह करबा दिया था और उसने हिंदुओं के धार्मिक स्थलों पर जाने के लिए भारी कर लगा दिया. उसने अपने शासनकाल के दौरान लाखों हिंदुओं को मुस्लिम बनवा दिया था
औरंगजेब का जन्म 4 नवंबर, 1618 ई. में गुजरात में हुआ था. औरंगजेब शाहजहां और मुमताज का बेटा था, लेकिन औरंगजेब का बचपन नूरजहां के साथ मे बीता था. और फिर 18 मई, 1637 ई. को उसका निकाह फारस के राजघराने की ‘दिलरास बानो बेगम’ के साथ हो गया था.
आपको बता दे की 22 जून 1665 ई में जयसिंह और शिवाजी के बीट पुरंदर की संधि पूरी हुई. और इसके बाद 22 मई 1666 ई में आगरा किले में शिवाजी औरंगजेब के सामने आ गए इसके बाद उन्हें जयपुर भवन की जेल में कैद कर दिया गया था.
और इसके बाद से गुरु तेग बहादुर सिंह ने उसके खिलाफ मोर्चा खोल दिया और उन्होने मुस्लिम धर्म अपनाने से साफ इंकार कर दिया. और इसका परिणाम ये मिला के दिसंबर 1765 को गुरु तेग बहादुर सिंह को दिल्ली की जेल में कैद करके उन्हे मरवा दिया गया था..
बता दे की उसने ही साल 1679 ई. में लाहौर की बादशाही मस्जिद को बंबाया था. और साल 1678 में औरंगाबाद ने अपनी बीबी रबिया दुर्रानी की याद में बीबी का एक मकबरा बनवा दिया था.
इस शासक मे 1699 ई. में मंदिरों तोड़ने का आदेश दिया गया था और इसी के साथ उसने हिंदुओं को जबरन मुस्लिम बनाने का आदेश दिया था फिर 4 मार्च साल 1707 में किसी कारण उसकी मौत हो गई थी और इसके बाद उसे दौलताबाद में फकीर बुरुहानुद्दीन की कब्र के अहाते में ही दफनया गया था तो दोस्तो आपको अब पता लग ही गया होगा क्यू इतनी नफरत करते थे.

0 comments: